सभी क्लासरूम को हाई-टेक क्लासरूम बनाने वाला पहला राज्य केरल

भारत का केरल राज्य सोमवार को पहला ऐसा राज्य बना जिसके सभी  सरकारी स्कूल में हाई-टेक क्लासरूम है| राज्य के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने राज्य के शिक्षा छेत्र को पूरी तरह डिजिटल घोषित कर दिया है| सरकार इस प्रोजेक्ट पर बहुत समय से काम कर रही थी यह सभी सरकार के प्रयासों से संभव हो पाया है| केरल राज्य हमेशा से शिक्षा के छेत्र को एक महत्वपूर्ण पूंजी मानता है| 


सभी क्लासरूम को हाई-टेक क्लासरूम बनाने वाला  पहला राज्य केरल

इस कार्य का श्रेय Kerala Infrastructure and Technology for Education (KITE) को भी जाता है| सभी क्लासरूम को हाई-टेक क्लासरूम का कार्य KITE के अंतरगत आता है| KITE के सीईओ के अनवर सदाथ ने बताया की इस हाई-टेक क्लासरूम में लगे सभी उपकरण की 5 साल की वारंटी है| साथ ही सरकार ने इस आने वाली किसी भी आने वाली शिकायतो के लिए एक वेब पोर्टल और कॉल सेण्टर भी तैयार किया है| 

वही अगर इस प्रोजेक्ट में लगे उपकरण और उनमे खर्च हुए धन की बात करे तो वह कुछ इस प्रकार है| माध्यमिक स्कूलों के लिए 493.50 करोड़ रुपये की हाई-टेक स्कूल परियोजना और प्राथमिक विद्यालयों के लिए 300 करोड़ रुपये की हाई-टेक लैब परियोजना शामिल है। जिसमें 119,055 लैपटॉप, 69,944 मल्टीमीडिया प्रोजेक्टर, 100,473 USB स्पीकर, 23,098 प्रोजेक्टर स्क्रीन, 43,250 माउंटिंग किट, 4,545 एलईडी टीवी, 4,578 डीएसएलआर कैमरा, 4,720 फुल एचडी वेबकैम और 4,650 मल्टी-फंक्शन प्रिंटर के साथ-साथ 12,678 स्कूलों में हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड इंटरनेट कनेक्टिविटी शामिल है। ।

KITE द्वारा Kerala Infrastructure and Technology for Education (KIIFB) की वित्तीय सहायता से इन क्लासरूम की स्थापना हुई है साथ ही इसमें विधायक निधि और स्थानीय स्व-सरकारी संस्थानों के फण्ड का भी उपयोग किया गया है| 




Post a Comment

0 Comments